Google Maps Wrong Route Take A Life Of Siberia Youth – Google Maps की एक गलती ने युवक को सुला दी मौत की नींद

टेक डेस्क अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sat, 12 Dec 2020 12:42 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

कभी-कभी एक छोटी सी गलती आपके लिए जिंदगी और मौत का सवाल बन जाती है। रूस के साइबेरिया में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें गूगल मैप की एक छोटी सी गलती के चलते 18 साल का लड़का रास्ता भटक गया। लड़का जिस गलत रास्ते पर गया वहां रात में तापमान -50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया और उसकी सर्दी में जमने से मौत हो गई। ये दोनों इस सड़क पर कई दिनों तक फंसे रहे थे।

रिपोर्ट के मुताबिक सर्गे उस्तीनोव और वाल्दीस्लाव इस्तोमिन साइबेरिया के पोर्ट ऑफ मेगाडन जा रहे थे लेकिन गूगल मैप्स की मदद लेने के चलते वे गलत दिशा में चले गए। वे गलती से रोड ऑफ बोन्स पहुंच गए थे जो कि रात के समय काफी खतरनाक मानी जाती है क्योंकि यहां अचानक तापमान गिर जाता है। गूगल मैप ने शार्टकट के चक्कर में दोनों को ऐसे रास्ते पर भेज दिया जो न सिर्फ बंद था बल्कि काफी जटिल भी था। 

बता दें कि यह सड़क पूरी तरह से बर्फ से ढंकी हुई थी और सर्दी बढ़ने के बाद कार के रेडियेटर ने भी काम करना बंद कर दिया। इन दोनों लड़कों को नहीं पता था कि भीषण सर्दी से कैसे निपटना है और इसलिए उनमें से एक की जमने से मौत हो गई जबकि दूसरे के हाथ-पांव बुरी तरह जमे हुए हैं और उन्हें काटना पड़ सकता है। खबर के मुताबिक सर्गे का पूरा शरीर पत्थर की तरह जमा हुआ मिला है जबकि वाल्दीस्लाव अभी भी जिंदा है लेकिन बुरी हालत में है।

कभी-कभी एक छोटी सी गलती आपके लिए जिंदगी और मौत का सवाल बन जाती है। रूस के साइबेरिया में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है जिसमें गूगल मैप की एक छोटी सी गलती के चलते 18 साल का लड़का रास्ता भटक गया। लड़का जिस गलत रास्ते पर गया वहां रात में तापमान -50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया और उसकी सर्दी में जमने से मौत हो गई। ये दोनों इस सड़क पर कई दिनों तक फंसे रहे थे।

रिपोर्ट के मुताबिक सर्गे उस्तीनोव और वाल्दीस्लाव इस्तोमिन साइबेरिया के पोर्ट ऑफ मेगाडन जा रहे थे लेकिन गूगल मैप्स की मदद लेने के चलते वे गलत दिशा में चले गए। वे गलती से रोड ऑफ बोन्स पहुंच गए थे जो कि रात के समय काफी खतरनाक मानी जाती है क्योंकि यहां अचानक तापमान गिर जाता है। गूगल मैप ने शार्टकट के चक्कर में दोनों को ऐसे रास्ते पर भेज दिया जो न सिर्फ बंद था बल्कि काफी जटिल भी था। 

बता दें कि यह सड़क पूरी तरह से बर्फ से ढंकी हुई थी और सर्दी बढ़ने के बाद कार के रेडियेटर ने भी काम करना बंद कर दिया। इन दोनों लड़कों को नहीं पता था कि भीषण सर्दी से कैसे निपटना है और इसलिए उनमें से एक की जमने से मौत हो गई जबकि दूसरे के हाथ-पांव बुरी तरह जमे हुए हैं और उन्हें काटना पड़ सकता है। खबर के मुताबिक सर्गे का पूरा शरीर पत्थर की तरह जमा हुआ मिला है जबकि वाल्दीस्लाव अभी भी जिंदा है लेकिन बुरी हालत में है।

Source link

admin

Netflix hindi : Review ,Rating , latest news or other related stuff of netflix.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: