Korea Institute Of Science And Technology Announced That They Have Develop A Self Healing Material That Can Self Repair Cracks Display – टूटने पर अपने आप ठीक हो जाएगी फोन की डिस्प्ले, अलसी का तेल करेगा कमाल

टेक डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Tue, 29 Dec 2020 02:47 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

यदि आपके भी हाथ से स्मार्टफोन फिसलकर बार-बार गिर जाता है और उसकी डिस्प्ले बदलवाने में आपको ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब आपको फोन की डिस्प्ले को ठीक करवाने के लिए मोटे पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे। जल्द ही आपके फोन की टूटी हुई स्क्रीन को जोड़ने का काम अलसी का तेल कर देगा।

दक्षिण कोरिया के शोधकर्ताओं ने किया दावा
दक्षिण कोरिया के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि स्क्रीन की दरारों को भरने के लिए माइक्रोकैप्सूल के रूप में अलसी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। रिसर्च में पता चला है कि जब डिस्प्ले की दरार को पारदर्शी अलसी का तेल से भरा जा सकता है। रिसर्च के दौरान 20 मिनट के भीतर 95 फीसदी तक टूटे स्क्रीन की मरम्मत की गई, हालांकि यह प्रयोग प्रयोगशाला में किया गया है। सामान्य तरीके से टूटी स्क्रीन को जोड़ने में घंटों लग सकते हैं, लेकिन गर्म तापमान और अल्ट्रावायलेट रोशनी से इस प्रक्रिया को तेज किया जा सकता है।

पॉलिमर बाइलेयर फिल्म दिया गया जेल का नाम
कोरिया इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (केआईएसटी) में इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड कंपोजिट मैटेरियल में इस अध्ययन का नेतृत्व कर रहे सेंटर हेड डॉ. योंग-चाई जुंग के मुताबिक, इसे एक पॉलिमर बाइलेयर फिल्म (पीबीएफ) कहा जाता है। ये दो परतों का मेल है जो मिलकर एक सिंगल मैटेरियल बनाती है। सबसे ऊपरी सतह में अलसी के तेल के माइक्रोकैप्सूल होते हैं जबकि निचली सतह फोन, टैबलेट और अन्य गैजेट में इस्तेमाल होने वाले कांच जैसे मैटेरियल से बनी होती है, जिसे सीपीआई कहा जाता है। सीपीआई एक पारदर्शी प्लास्टिक होता है जो कि मजबूत, लचीला और विद्युत संचालन करता है। 

एपल के पास भी है सेल्फ हीलिंग स्क्रीन
ऐसा नहीं है कि कोरियाई शोधकर्ता ने पहली बार टूटी स्क्रीन को ठीक करने की समस्या के लिए इस तरह कोई की कोई तकनीक विकसित की है। इससे पहले एपल ने इसी तरह की सेल्फ हीलिंग स्क्रीन टेक्नोलॉजी का पेटेंट करवाया है। एपल की प्रस्तावित टेक्नोलॉजी में एलास्टोमीटर का उपयोग किया जाएगा।

यदि आपके भी हाथ से स्मार्टफोन फिसलकर बार-बार गिर जाता है और उसकी डिस्प्ले बदलवाने में आपको ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ते हैं तो यह खबर आपके लिए है। अब आपको फोन की डिस्प्ले को ठीक करवाने के लिए मोटे पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे। जल्द ही आपके फोन की टूटी हुई स्क्रीन को जोड़ने का काम अलसी का तेल कर देगा।

दक्षिण कोरिया के शोधकर्ताओं ने किया दावा

दक्षिण कोरिया के शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि स्क्रीन की दरारों को भरने के लिए माइक्रोकैप्सूल के रूप में अलसी के तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। रिसर्च में पता चला है कि जब डिस्प्ले की दरार को पारदर्शी अलसी का तेल से भरा जा सकता है। रिसर्च के दौरान 20 मिनट के भीतर 95 फीसदी तक टूटे स्क्रीन की मरम्मत की गई, हालांकि यह प्रयोग प्रयोगशाला में किया गया है। सामान्य तरीके से टूटी स्क्रीन को जोड़ने में घंटों लग सकते हैं, लेकिन गर्म तापमान और अल्ट्रावायलेट रोशनी से इस प्रक्रिया को तेज किया जा सकता है।

पॉलिमर बाइलेयर फिल्म दिया गया जेल का नाम

कोरिया इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (केआईएसटी) में इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड कंपोजिट मैटेरियल में इस अध्ययन का नेतृत्व कर रहे सेंटर हेड डॉ. योंग-चाई जुंग के मुताबिक, इसे एक पॉलिमर बाइलेयर फिल्म (पीबीएफ) कहा जाता है। ये दो परतों का मेल है जो मिलकर एक सिंगल मैटेरियल बनाती है। सबसे ऊपरी सतह में अलसी के तेल के माइक्रोकैप्सूल होते हैं जबकि निचली सतह फोन, टैबलेट और अन्य गैजेट में इस्तेमाल होने वाले कांच जैसे मैटेरियल से बनी होती है, जिसे सीपीआई कहा जाता है। सीपीआई एक पारदर्शी प्लास्टिक होता है जो कि मजबूत, लचीला और विद्युत संचालन करता है। 

एपल के पास भी है सेल्फ हीलिंग स्क्रीन

ऐसा नहीं है कि कोरियाई शोधकर्ता ने पहली बार टूटी स्क्रीन को ठीक करने की समस्या के लिए इस तरह कोई की कोई तकनीक विकसित की है। इससे पहले एपल ने इसी तरह की सेल्फ हीलिंग स्क्रीन टेक्नोलॉजी का पेटेंट करवाया है। एपल की प्रस्तावित टेक्नोलॉजी में एलास्टोमीटर का उपयोग किया जाएगा।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *